What Is Type 2 Diabetes?

टाइप 2 डायबिटीज में अग्न्याशय या पेंक्रियास अतिरिक्त इंसुलिन बनाता है. हालांकि, समय के साथ, यह ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए पर्याप्त नहीं बना पाता है. इसे टाइप 2 डायबिटीज कहते हैं.

नई दिल्ली: डायबिटीज एक ऐसी बीमारी जिसमें ब्लड शुगर लेवल को लगातार मैनेज करने की जरूरत होती है. अगर डायबिटीज अनकंट्रोल हो जाए तो शरीर के कई अंगों को नुकसान पहुंच सकता है. डॉक्टर्स डायबिटीज रोकने के लिए संतुलित डाइट प्लान और फिट रहने की सलाह देते हैं. अपने डाइट प्लान में फाइबर से भरपूर भोजन और दूसरे पोषक तत्वों डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है.

टाइप 2 डायबिटीज (मधुमेह) क्या होता है

टाइप 2 डायबिटीज उस स्थिति को कहा जाता है जब शरीर इंसुलिन का सही उपयोग नहीं कर पाता है और इस स्थिति को इंसुलिन प्रतिरोध भी कहा जाता है. टाइप 2 डायबिटीज में अग्न्याशय या पेंक्रियास अतिरिक्त इंसुलिन बनाता है. हालांकि, समय के साथ, यह ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए पर्याप्त नहीं बना पाता है. इसे टाइप 2 डायबिटीज कहते हैं.

साबुत अनाज होता है फायदेमंद

साबुत अनाज में अच्छी मात्रा में फाइबर होता है. द जनरल ऑफ न्यूट्रीशियन में छपी एक शोध के अनुसार हर साबुत अनाज के16 ग्राम की मात्रा में सेवन करने से पुरुषों में 11% और महिलाओं में 7% टाइप 2 डायबिटीज होने का खतरा कम हो जाता है. पुरुषों के लिए, गेहूं, राई और जई सहित सभी साबुत अनाज का सेवन करने से टाइप 2 डायबिटीज होने का रिस्क कम हो जाता है. वहीं महिलाओं में केवल गेहूं और जई टाइप 2 डायबिटीज के रिस्क को कम करने करने के कारगर माने जाते हैं.(What Is Type 2 Diabetes?)

डायबिटीजि को ऐसे करें कंट्रोल

डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए अपने चीनी का सेवन कम करें. बहुत अधिक चीनी आपके शरीर के लिए कई मायनों में हानिकारक है. स्वस्थ शरीर के लिए नियमित व्यायाम आवश्यक है. यह कई पुरानी बीमारियों के नियंत्रित जोखिम से जुड़ा हुआ है. शारीरिक रूप से सक्रिय रहने से आप रिस्क को कंट्रोल कर सकते हैं. अपनी बॉडी को फिट रखने की कोशिश करें. अपने आहार में अधिक फाइबर शामिल करें. एक्सरसाइज आपको प्रभावी रूप से वजन कम करने में भी मदद करेगी.

ये भी पढ़ें :

भारत की पुरानी परंपराएं जिनमें छिपे हैं सेहत के ये बड़े फायदे

Leave a Reply