खून के कैंसर के प्रारंभिक संकेतों को पहचानकर आप सही समय पर इसका इलाज शुरू कर सकते हैं, जिससे आप इसकी भयंकर स्थिति से बच सकते हैं, तो आइए आज हम आपको बताते हैं ब्लड कैंसर के शुरुआती लक्षणों के बारे में.

ब्लड कैंसर बेहद खतरनाक होता है. इस कैंसर में आपका शरीर सफेद रक्त कोशिकाएं नहीं बना पाता. व्हाइट ब्लड सेल्स शरीर को बिमारियों से बचाने में सहायक होती हैं इसलिए यह बहुत हानिकारक होता है. अक्सर ल्यूकेमिया या ब्लड कैंसर होने पर आपका शरीर आपको कुछ इशारे देता है, जो आपको देखने में बहुत ही सामान्य लगते हैं. लेकिन आप इन संकेतों को पहचानकर सही समय पर ब्लड कैंसर का इलाज शुरू कर सकते हैं, जिससे आप इसकी भयंकर स्थिति से बच सकते हैं, तो आइए आज हम आपको बताते हैं ब्लड कैंसर के शुरुआती लक्षणों के बारे में.

सुस्ती और थकान
अगर आप 7-8 घंटे की नींद लेने के बाद भी थकान और सुस्ती महसूस कर रहे हैं, तो आपको डॉक्टर के पास जाकर इसकी जांच करवानी चाहिए. बिना कारण थकान और आलस ब्लड कैंसर के सबसे शुरुआती संकेत होते हैं. कई बार ये शरीर में खून की कमी का संकेत भी हो सकता है.

स्किन पर नीले निशान पड़ना

अगर आपके शरीर पर बिना किसी चोट या टक्कर के नीले निशान दिख रहे हैं, तो ये ब्लड कैंसर या ब्लड इंफेक्शन की ओर इशारा हो सकता है. यह अक्सर शरीर में प्लेटलेट्स की संख्या कम होने के कारण खून के थक्के जमना शुरू हो जाते हैं. नीले रंग के ये निशान आपके शरीर में कहीं पर भी हो सकते हैं, लेकिन आमतौर पर ये जांघों, हाथों और पैरों में अधिक दिखाई देते हैं.

सांस फूलने की समस्या

अगर हल्के-फुल्के काम के दौरान भी आपकी सांस फूलती या सांस टूटती है तो यह ल्यूकीमिया की ओर इशारा हो सकता है. खून में इंफेक्शन की वजह से शरीर की क्षमताएं कम होने लगती हैं. आमतौर पर अनहेल्दी इंसान 12-15 सीढ़ियां आराम से चढ़ सकता है. लेकिन 8-10 सीढ़ियां चढ़ने में ही आपकी सांस फूलने लगती है, तो आपको अपने शरीर की जांच अवश्य करवानी चाहिए. ये ब्लड कैंसर के साथ-साथ कोलेस्ट्रॉल बढ़ने और अस्थमा के भी लक्षण हो सकते हैं.

बुखार जैसा महसूस होना

अगर आपको जल्दी-जल्दी बुखार या ठंड लगती है तो यह वायरल का संकेत हो सकता है. अगर आपका बुखार 2 दिन के इलाज के बाद भी ठीक नहीं हो रहा है, या ठीक होने के बाद फिर से जल्दी आ जाता है, तो आपको चिकित्सक से जांच करानी चाहिए. बुखार के साथ ठंड महसूस होना ब्लड कैंसर का लक्षण हो सकता है.

सोते समय पसीना आना

रात को सोते समय पसीना आना कोई आम बात नहीं होती है. ऐसा में आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए. पसीने के साथ बदबू, बगलों और चेहरे से ज्यादा पसीना आना आदि ब्लड इंफेक्शन की ओर इशारा हो सकता है.

तेज सिर दर्द होने की समस्या

वैसे तो सिर दर्द एक आम समस्या है, जो किसी भी कारण हो जाती है. कई बार माइग्रेन या दूसरी किसी बीमारी की वजह भी सिरदर्द हो सकता है. लेकिन लगातार सिरदर्द की समस्या या सिर के किसी हिस्से से खून निकलना, ब्लड कैंसर का भी संकेत हो सकता है. इसलिए इसकी जांच करवानी जरूरी है.

कंप्यूटर आपकी आंखों की नमी को कर सकता है खत्म, करें ये 4 क्विक योगा

Leave a Reply