• Post published:May 17, 2020
  • Post category:Technology
  • Post comments:0 Comments
  • Reading time:1 mins read

Fraud Cases

साइबर एजेंसी का कहना है कि आरोग्य सेतु ऐप के नाम पर धोखाधड़ी के मामले बढ़े हैं.

ठग लोगों की संवेदनशील सूचनाएं हासिल कर रहे हैं.

नई दिल्ली: भारत की साइबर सुरक्षा एजेंसी ने शनिवार को कहा कि देश में आरोग्य सेतु मोबाइल ऐप के नाम पर ऑनलाइन धोखाधड़ी के मामलों में तेजी आई है. एजेंसी का कहना है कि कोरोना महामारी के दौरान इंटरनेट यूजर्स की जिज्ञासा का लाभ उठा कर ठग उनके साथ साइबर धोखाधड़ी कर रहे हैं.

एजेंसी ने कहा कि साइबर अपराधी विश्व स्वास्थ्य संगठन से जुड़ी लिंक और लोकप्रिय वीडियो कॉन्फ्रेंस साइटों जैसे ‘जूम’ आदि से मिलते-जुलते लिंक बनाकर भी लोगों की निजी सूचनाएं चुरा रहे हैं.

भारतीय कम्प्यूटर इमरजेंसी प्रतिक्रिया दल (सीईआरटी-इंडिया) की ओर से जारी परामर्श की प्रति में एजेंसी ने कहा है, ‘‘आरोग्य सेतु ऐप के नाम पर साइबर धोखाधड़ी के मामले बढ़े हैं. अपराधी एसआर विभाग, सीईओ या अन्य किसी जानकारी व्यक्ति का नाम लेकर उपयोक्ताओं को यह कह कर निशाना बनाते हैं कि आपका पड़ोसी संक्रमित हो गया है, देखें और कौन-कौन प्रभावित है, क्या आपके संपर्क में आया कोई व्यक्ति भी संक्रमित हुआ है, आरोग्य सेतु ऐप का उपयोग करने के दिशा-निर्देश आदि बहानों का उपयोग करते हैं.’’

आरोग्य सेतु ऐप के एक यूजर का कहना है कि यह बताने के लिए कि आसपास में कौन-कौन संक्रमित हुआ है ऐप ब्लूटूथ और जीपीएस का इस्तेमाल करती है. परामर्श में कहा गया है कि हाल में हो रहे साइबर अपराधों में अपराधी इस महामारी का लाभ उठाते हुए लोगों से उनकी संवेदनशील सूचनाएं हासिल कर रहे है

Leave a Reply